Saturday, 19 March 2016

मेरा सजना मेरा सॅवरना..चेहरा सदा खिला रहना..तुझे दी जिॅदगी इस ने---ना रहना

कभी मायूस..हू गुनहगार तेरा यू जाने का--निभा पाया ना हर वादा..पर हू तेरा रूहे-जादा

--सदिया रहे..चलती रहे चलती रहे..रहो गी तुम सदा ऐसी..हो नूरे जहाॅ मेरी---मिलना

हो जब कभी मुझ से..मिलना सदियो की वो ही दुलहन बन के--

 भोले भाले वो नैना..उस के दिल के आर-पार हो गए..वो भोले थे इसलिए ही तो उस की खास पसंद बन  गए..जब वो झुकते तो दिल उस का चीर जाते..जो उठते तो उ...