Friday, 4 March 2016

टूटन तेरी चाहत की..देख कहा ले आई है--बिखरे बिखरे गेसूओ मे भी..बस तेरी सूरत ही

नजऱ आई है--दरदेेे दिल से बेहाल है..खुद की जान पे ही बन आई है--तबाही मेरी

जिॅदगी की देखने जरूर आना..कि मौत भी तभी..तेरे इॅतजाऱ मे बुलाई है---

 भोले भाले वो नैना..उस के दिल के आर-पार हो गए..वो भोले थे इसलिए ही तो उस की खास पसंद बन  गए..जब वो झुकते तो दिल उस का चीर जाते..जो उठते तो उ...