Thursday, 5 June 2014

मौत कब ले जाए गी हमे....

आऔ दोसतों आप सब को यह पैगाम दे जाए....


इनहीं पननों मे हमे याद करना,वकत कितना भी कय़ू ना गुजर जाए....