Sunday, 7 September 2014

उसूलो सेे जोडी है जिनदगी..मलाल इस का नही है...इन उसूलो को कोई समझ नही

पाया,दरद तो इस बात का है....हम उसूलो को तोड नही पाए....इसलिए इस दुनिया मे

जी नही पाए....पर इस दुनिया से दूर हो गए इतना..जो भी ठूूठे गा ना जान पाए गा कि

हम वीरानो मे खो गए कितना.....